सुरेश जोआचीम अंतर्राष्ट्रीय विश्व शांति मैराथन

World Peace Marathon

उद्देश्य- सुरेश जोआचीम “विश्व शांति मैराथन”के अपने जीवन भर के सपने को बढ़ावा देने के लिए बहु सहनशीलता गिनीज विश्व रिकॉर्डों को तोड़ने के लिए प्रयत्नशील हैं। समारोह के अंतिम दिन युद्ध से पीड़ित बच्चों की परेशानी, प्राकृतिक आपदाओं तथा गरीबी के उन्मूलन के संबंध में सुरेश जोआचीम की सबसे कठिन यात्रा की शुरूआत होगी। उनका प्रयास “कोई गरीबी नहीं, कोई बीमारी नहीं, कोई युद्ध नहीं”के अपने सपने को पूरा करने का होगा। बेहतर भविष्य के लिए विश्व शांति मैराथन सुरेश जोआचीम का एक विजन है। दुनिया भर के बच्चों के लिए एक अधिक बेहतर, अधिक स्वस्थ, अधिक स्थित तथा युद्ध से मुक्त भविष्य। पिछले 15 से अधिक वर्षों से, जोआचीम ने अथक रूप से केवल परोपकार के हित में बहुत से विश्व रिकॉर्डों को तोड़ा है। अब वह विश्व शांति मैराथन वास्तविकता बन गयी है, सुरेश को जो भी मिल सकता है उस सभी संभव सहयोग की जरूरत होगी। मैराथन 70 से अधिक देशों के 120 से अधिक शहरों में सुरेश दौड़ेंगे। 25 दिसम्बर, 2017 को 12 बजे पूर्वाह्न को सुरेश जोआचीम की जीवनकाल की यात्रा की शुरूआत होगी। इसकी शुरूआत बेंथलेहेम में होगी तथा समापन टोरोंटो, कनाडा में होगा, सुरेश मैराथन के दौरान संपूर्ण रास्ते में शांति टॉर्च को साथ ले जाएंगे। रास्ते भर में देश के प्रमुखों तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों और हस्तियों द्वारा उनका अभिवादन किया जाएगा तथा शामिल होंगे। इस मैराथन का उद्देश्य इस वेबसाइट के माद्यम से एक बिलियन डॉलर एकत्र करना होगा।

इस मैराथन के दौरान, “विश्व युद्धविराम दिवस” के पक्ष में 500 मिलियन से अधिक हस्ताक्षर एकत्र करने के लिए जोआचीम के पास अपनी सभी सक्रिय वेबसाइट से जुड़ी हुई चालू पिटिशन होगी तथा विश्व में बीमारी, गरीबी और युद्ध के उन्मूलन के लिए 1 बिलियन डॉलर से अधिक की राशि को एकत्र करने के लिए प्रयत्नशील रहेंगे। विश्व युद्धविराम दिवस का अभिप्राय उस दिन से होगा जब देश के प्रमुख तथा सभी शक्तियां इस उम्मीद के साथ नागरिक और राष्ट्रीय युद्ध के सभी रूपों को रोकने के लिए मानवीय समझ पैदा करेंगीं कि एक दिन आएगा जब “कोई गरीबी नहीं, कोई बीमारी नहीं और इनसे ऊपर कोई युद्ध नहीं”होगा।

जोआचीम की मैराथन दौड़ के दौरान वे अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की एक पहल, “विश्व युद्धविराम दिवस”के बारे में जागरूकता पैदा करेंगे। जोआचीम प्रत्येक देश के प्रमुख के हाथों में शांति टॉर्च को सौंपकर इस दिन के महत्व को और बढ़ाएंगे। स्वीकृति का यह शो “विश्व युद्धविराम दिवस”के व्यवहारिक रूप से लागू करने तथा इसकी जरूरत को मजबूत करने के लिए है। एक बार जब उनकी यात्रा पूरी हो जाती है, तो सुरेश 270 दिनों में चक्र को पूरा करने के लिए 10,000 किमी. से अधिक की यात्रा कर चुकेंगे। इस दौरान उन्हें परोपकार के लिए एक बिलियन डॉलर एकत्र होने की उम्मीद है तथा वे एक याचिका प्रस्तुत करेंगे जो “विश्व युद्धविराम दिवस”के समर्थन में 500 मिलियन हस्ताक्षर एकत्र करेगी।

कोई गरीबी नहीं कोई बीमारी नहीं कोई लड़ाई नहीं
सुरेश जोआचीम अंतर्राष्ट्रीय विश्व शांति मैराथन. अधिक ब्यौरा worldpeacemarathon.com